उत्तर प्रदेश:आजमगढ जिले की बिलरियागंज थाना क्षेत्र में एक 14 साल की बच्ची से गैंगरेप का मामला सामने आया है. नाबालिग के घरवालों के मुताबिक गांव के ही रहने वाले युवकों ने उसे पहले अगवा किया और बाद में गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया. घरवालों की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है. मामला दो समुदाय का होने के कारण एहतियातन गांव में भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है.

पीड़िता की मां के मुताबिक, घटना के समय वह कुछ काम से बाहर गई हुई थी, और उसी समय गांव के रहने वाले कुछ युवकों ने उसे अगवा कर लिया और इस घटना को अंजाम दिया. उसे घटना का पता तब चला जब वह शैंपू लेने के लिए आरोपी युवक के घर पहुंची तो उसने देखा कि उसकी बेटी का कपड़ा आरोपी युवक के घर में मौजूद है. बेटी से जब इस बारे में पूछा तो उसने आपबीती मां को बताई.

पीड़िता के पिता हबीब के मुताबिक, वह इस मामले में न्याय चाहते हैं, इसलिए उन्होंने पूरे घटनाक्रम से पुलिस को अवगत कराते हुए थाने में लिखित तहरीर दी है. लिखित तहरीर के आधार पर पुलिस ने संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस ने इस मामले में उचित कार्रवाई का भरोसा दिया है.

पूरे मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक, ग्रामीण नरेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि नाबालिग के घरवालों द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर लिया है. बहुत जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी. उन्होंने बताया कि पुलिस इस मामले को गंभीरता से ले रही है और आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी. प्रशासन ने क्षेत्र में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पीएसी के जवानों की तैनाती कर दी है. घटना के बाद पूरे गांव में पुलिस और पीएसी के जवान तैनात हैं. गांव में स्थिति पूरी तरह से सामान्य है.