नई दिल्ली, मोदी सरकार के स्वच्छ भारत मिशन के तहत संचार मंत्रालय द्वारा संचालित स्वच्छता पखवाड़े में पूरे देश में स्थित डाकघरों से कुल 1.5 लाख किलोग्राम पुराने रिकॉर्ड तथा तीन लाख किलोग्राम खराब और बेकार पड़ी सामग्री हटाई गई हैं। संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने एक से 15 जुलाई तक चले इस पखवाड़े के दौरान उनके मंत्रालय के तहत आने वाले विभागों और सरकारी उपक्रमों द्वारा संचालित स्वच्छता कार्यक्रमों के बारे में सोमवार को यहां संवाददाताओं को जानकारी देते हुए कहा कि इस दौरान देश के 53,648 डाकघरों में व्यापक स्वच्छता अभियान चलाया गया और इसके परिणामस्वरूप डाकघरों से कुल 1.5 लाख किलोग्राम पुराने रिकॉर्ड तथा तीन लाख किलोग्राम खराब और बेकार पड़ी सामग्री हटाई गई।

उन्होंने कहा कि डाकघरों से जो पुराने रिकार्ड हटाए गए हैं, उनमें से रिकॉर्ड को सुरक्षित रखा गया है। डाकघरों के साथ ही मेल और प्रशासनिक कार्यालयों में स्वच्छता संबंधी संदेशों को प्रदर्शित किया गया और कुछ स्थानों पर पत्र-डाक पर साफ सफाई संबंधी संदेश वाली मुहर भी लगाई गई है। उन्होंने कहा कि पखवाड़े के दौरान दूरसंचार मंत्रालय, भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल), महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल) भारतीय टेलीफोन उद्योग लिमिटेड (आईटीआई लिमिटेड), टेलीकॉम कंसलटेंट इंडिया लिमिटेड (टीसीआईएल) टेलीमैटिक्स विकास केन्द्र (सी डॉट) और भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने भी स्वच्छता अभियान चलाया।

मंत्री ने कहा कि बीएसएनएल और एमटीएनएल ने अपने कार्यालय परिसरों के साथ साथ उपस्करों, टेलीफोन एक्सचेजों, मल्टी डिस्ट्रिब्यूशन फ्रेमों (एमडीएफ), उपभोक्ता सेवा केन्द्रों, संचार हाटों, निरीक्षण क्वार्टरों, आवासीय कॉलोनियों और कार्यालय परिसरों के आसपास भी स्वच्छता अभियान चलाया। दूरभाष केन्द्रों में ई कचरा सहित बेकार पड़े उपस्करों एवं फर्नीचर आदि का भी निपटान किया है।